Aditya City News
अपराध आपका राज्य उत्तरप्रदेश झारखंड टेक्नोलोजी बिहार राजनीति राष्ट्रीय शिक्षा

बहुचर्चित संस्थान आदित्य सुपर-50 ने वितरण किया छठ पूजन का सामग्री

आदित्य सिटी न्यूज 

बांका: लोक आस्था के महापर्व छठ पूजा के अवसर पर गुरुवार को जिला के बहुचर्चित संस्थान आदित्य सुपर-50 के संस्थापक व निदेशक ललित किशोर कुमार ने शहर से सटे करहरिया महादलित टोला में छठ व्रतियों के बीच घर-घर जाकर छठ पूजन की सामग्री वितरण किया। छठ व्रतियों को सूप, नारियल, नारंगी, सेब, गुड़, नींबू,बिंदी, सिंदूर सहित अन्य सामग्री दी गई। बहुचर्चित संस्थान आदित्य सुपर-50 के संस्थापक व निदेशक ललित किशोर कुमार ने बताया कि चार दिनों तक चलनेवाले लोक आस्था के इस त्योहार में समाज के हर तबके की श्रद्धा और आस्था है, वह चाहे आमिर हो या गरीब।

उन्होंने कहा कि यही एक ऐसा अनुष्ठान है जिसमें समाज के हर वर्ग के लोग एक साथ समान रूप से जलाशय किनारे बैठकर भगवान भास्कर की अराधना करते हैं। इस महापर्व की खासियत यह है कि भगवान और भक्त दोनों आमने-सामने होते हैं। अतः हम समाज के वैसे लोग जो आर्थिक रूप से कमजोर हैं और छठ महापर्व का अनुष्ठान कर रहे हैं उनको मैं एक छोटी सी मदद सूप और पूजन सामग्री देकर मदद करने की कोशिश की है।मौके पर उपस्थित आदित्य सुपर-50 के शिक्षक सुमित कुमार झा ने बताया कि कार्तिक महीने में मनाये जाने वाला लोक आस्था का महापर्व छठ का हिंदू धर्म में एक विशेष और अलग स्थान है। भगवान भास्कर के इस अनुष्ठान में शुद्धता व पवित्रता का विशेष महत्व है। प्रकृति के अवयवो में से एक जल स्रोतों के निकट छठ पूजा का आयोजन होता है जहाँ छठ व्रती पानी में खड़े होकर सूर्य देव को अर्घ्य  देते है।उपस्थित रहे सुधीर कुमार दास ने कहा कि यह एक ऐसा अनुष्ठान है जिसमे डूबते और उगते सूर्य को अर्घ्य दिया जाता है  एवं उनकी अराधना की जाती है।मौके पर सुमित कुमार झा,सुधीर कुमार दास, आकाश कुमार सहित अन्य लोग मौजूद रहे।

Related posts

कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गाँधी का आज मनाई जाएगी 50वाँ जन्मदिन

Aditya City News

आदित्य सुपर-50 के निदेशक ललित किशोर कुमार ने किया स्वामी विवेकानंद स्मृति दिवस पर बीडीओ को सम्मानित

Aditya City News

जिला के तीन केन्द्रों पर होगी डी.एल.एड की परीक्षा

Aditya City News

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More